11.1 C
New Delhi
Sunday, January 16, 2022

सूरज दादा से अनुरोध- सरिता साहिल

हे सूरज दादा!
अपनी किरणों के ताप से
कोई चमत्कार दिखाओ
नामुराद कोरोना का जग से
नामो निशान मिटाओ
मकर राशि में
आपका प्रवेश तो
होता है हर साल
ओमीक्रोन बन बैठा है
आज जहां में काल
त्योहारों की रौनक
खो गई है
मन की उमंग भी
अब सो गई है
ना कोई पतंग
उड़ाना चाहता है
मूंगफली गजक रेवड़ी तो
बिल्कुल नहीं
खाना चाहता है
डर है सबको
कहीं खांसी जुकाम
ना आ जाए
बनकर मेहमान
बुखार ने भी मचाया है
खूब तूफान
सब यही सोच घबराते हैं
शहरों में गन्ने भी
नजर नहीं आते हैं
गधे बनेंगेआज के दिन
जो नही नहाते हैं
ऐसा मेरी मम्मी
कहती थी
वो सदैव उत्साह में
रहतीं थी
वो खिचड़ी मंगोडे़
बनाती थी
सबके हाथों से
दान कराती थी
हे सूरज दादा!
मकर संक्रांति के दिन
शुरू करो आप नई रस्म
कोरोना संक्रमण को
कर दो भस्म
तभी मिलेगी सबको
शांति
तभी होगी शुभ
मकर संक्रान्ति!

सरिता “साहिल “

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

114,247FansLike
131FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles