34.1 C
New Delhi
Saturday, November 26, 2022

पितरों का सम्मान-सरिता

अपने वर्तमान में
हमारे भविष्य के
सपने संजोने वाले
हमारे बड़े
अब अतीत हो गए
दुनिया से विदा होकर
सदा के लिए खो गए
उनका सानिध्य
हिम्मत होंसला बन कर
रहा हरदम
परिवार के साथ
यादों में अमर रहेगा
उन स्वर्णिम
पलों का एहसास
भले ही वो नहीं है
लेकिन दिल में
अब भी वहीं है
जो गुजर गए
हम उनका करते श्राद्ध
जो हैं वो ना हो कभी
हमारे कारण उदास
यही प्रयास करने का
होना चाहिए मन में भाव
बड़ो की जरूरतों का
रखो ध्यान
जीते जी करो सम्मान
यही है श्राद्ध का सार
मित्रों,
तभी पितरों का
मिल पाएगा आशीर्वाद !

सरिता “साहिल”

SHARE

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

114,247FansLike
138FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

SHARE