11.1 C
New Delhi
Sunday, January 16, 2022

पाक की नापाक हरकतों का ISI जासूस ने किया चौंकाने वाला खुलासा

New Delhi: हमेशा मुंह की खाने वाला पाकिस्तान नापाक हरकत करने से बाज नहीं आता। जंग में तो पाकिस्तान कभी हमसे जीत नहीं पाया इसलिए अब पाकिस्तान और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई कायराना हरकत में जुटी है। दरअसल भारतीय सेना की गोपनीय जानकारी पाकिस्तान जानना चाहता है,,इसके लिए ISI अपना जाल फैला रहा है। उसके एजेंट सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर ISI की विचारधारा का भारत में रहकर प्रचार कर रहे हैं।

गिरफ्तार ISI एजेंट निबाब खान 2015 से पाकिस्तान की आईएसआई के लिए काम कर रहा था। उसने ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सएप पर 25 से अधिक खातों को एक्टिवेट किए। यानी उसने इंडियन अकाउंट बनाने और उसे ऑपरेट करने में पाकिस्तान की मदद की।

राजस्थान की 1037 किलोमीटर की सीमा पाकिस्तान से सटी हुई है। राजस्थान में ही पोखरण, बीकानेर महाजन फायरिंग रेंज है। इसके अलावा जैसलमेर ,बाड़मेर सूरतगढ़ जयपुर में कई संवेदनशील आर्मी के कैंप है। यही वजह है कि पाकिस्तान और उसकी एजेंसी राजस्थान की सेना के मूवमेंट में सबसे ज्यादा दिलचस्प रखता है और ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाना चाहता है।

राजस्थान, राजस्थान की 1037 किलोमीटर की सीमा पाकिस्तान से सटी हुई है, राजस्थान में ही पोखरण, बीकानेर महाजन फायरिंग रेंज है, इसके अलावा जैसलमेर ,बाड़मेर सूरतगढ़ जयपुर में कई संवेदनशील आर्मी के कैंप है। यही वजह है कि पाकिस्तान और उसकी एजेंसी राजस्थान की सेना के मूवमेंट में सबसे ज्यादा दिलचस्प रखता है और ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाना चाहता है। इस साल आर्मी मिलिट्री इंटेलिजेंस और राजस्थान खुफिया एजेंसी अट्ठारह ऐसे मामलों का पर्दाफाश किया है।

पाकिस्तान सीमा से सबसे ज्यादा सटा हुआ इलाका जैसलमेर और बाड़मेर है, यहां पर सबसे ज्यादा जासूस सक्रिय है और यहीं पर सबसे ज्यादा इंटेलिजेंट ने कार्रवाई की है। जैसलमेर और बाड़मेर के कई लोगों के रिश्तेदार पाकिस्तान में रहते हैं। इसी वजह से आज भी उनका आना जाना रहता है। इसी कड़ी में ISI के लिए जासूसी के आरोप में जैसलमेर से निबाब खान को गिरफ्तार किया है।

राजस्थान में पाकिस्तान की एक नापाक साजिश का पर्दाफाश हुआ है। राजस्थान पुलिस ने इस संबंध में चौंकाने वाला खुलासा किया है। दरअसल राजस्थान के जैसलमेर में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी- इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के लिए जासूसी करने के आरोप में एक शख्स निबाब खान को गिरफ्तार किया गया। इससे पूछताछ के बाद अब पुलिस ने हैरान कर देने वाले खुलासे किए हैं। निबाब खान 2015 से पाकिस्तान की आईएसआई के लिए काम कर रहा था।

उसने ट्विटर,फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सएप पर 25 से अधिक खातों को एक्टिवेट किए। यानीउसने इंडियन अकाउंट बनाने और उसे ऑपरेट करने में पाकिस्तान की मदद की। पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार निबाब खान और पाकिस्तान खुफिया एजेंसी की ओर से बनाए गए इंडियन सोशल अकाउंट का इस्तेमाल आईएसआई के प्रचार चलाने के लिए किया गया था।

निबाब खान 2015 में पाकिस्तान गया था जहां वह आईएसआई एजेंटों के संपर्क में आया था। इसके बाद में उन्हें 15 दिनों के लिए खुफिया जानकारी और 10,000 रुपये की शुरुआती राशि का प्रशिक्षण दिया गया। इसी तरह बाद में उसे हवाला संचालकों के माध्यम से पैसे मिलने लगे और वह उनके निशाने पर आ गया।

मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान के लिए एक जासूसी करने वाला निबाब चांदन रोड पर मोबाइल सिम कार्ड और फोटोकॉपी बेचने वाली एक छोटी सी दुकान चलाता है। वहीं इसने इंडियन डोमेन पर सोशल मीडिया खातों को सक्रिय करने के लिए अपने आकाओं को वनटाइम पासवर्ड प्रदान करने में मदद की थी।

टीम बेबाक

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

114,247FansLike
131FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles