38.1 C
New Delhi
Monday, June 27, 2022

पूजा में हमेशा जलाएं आटे का दीपक, मिट जाएंगे जीवन के अंधकार

New Delhi: पूजा करते समय दीपक को जरूर जलाया जाता है, दीपक जलाना शुभ माना जाता है और दीपक जलाकर की गई पूजा सफल होती है, कई लोग मिट्टी का दीपक जलाया करते हैं, तो कुछ लोग आटे का दीपक बनाकर उससे पूजा करते हैं, शास्त्रों में मिट्टी की तुलना में आटे के दीपक को शुभ माना गया है, इसलिए आप जब भी पूजा करें तो आटे का दीपक ही जलाया करें।

दरअसल अन्य दीपकों की तुलना में आटे का दीपक पवित्र होता है, क्योंकि ये अनाज से बनता है, जिसके चलते इसी दीपक को जलाने की सलाह शास्त्रों में दी गई है।

-आटा का दीपक जलाने से हर कामना पूरी हो जाती है, इसलिए पूजा के दौरान आप आटे के दीपक का प्रयोग जरूर करें, ऐसा करने से कामना पूर्ण हो जाएगी, जब आपकी कामना पूरी हो जाए तो, उसके बाद मंदिर में जाकर फिर से आटे का दीपक जरूर जलाएं।

-मां अन्नपूर्णा को प्रसन्न करने के लिए आटे का दीपक जलाएं। शास्त्रों के अनुसार आटे का दीपक जलाने से मां अन्नपूर्णा प्रसन्न हो जाती हैं और मां का आशीर्वाद मिल जाता है। ऐसा होने से घर में कभी भी अनाज की कमी नहीं होती है।

-कर्ज से मुक्ति, जल्द विवाह, संतान प्राप्ति और अन्य समृद्धि पाने के लिए आप रोज मंदिर में आटे का दीपक जलाया करें।

-आप आटे के दीपक को घटती और बढ़ती संख्या में भी जला सकते हैं। जैसे कि पहले आप एक दीपक जला सकते हैं, फिर अगले दिन 2, 3, ,4 , 5 और 11 तक दीपक जला सकते हैं। 11 दीपक जलाने के बाद आप इनकी संख्या कम भी कर सकते हैं। जैसे 10, 9, 8, 7 । आप बस इस बात का ध्यान रखें कि, अगर दीपक की संख्या पूरी होने से पहले कोई मनोकामना पूरी हो जाए, तो आप क्रम को खंडित न करें। क्रम के अनुसार दीपक को जलाएं।

-दीपावली के दिन आटे का दीपक जरूर जलाया करें। आटे का दीपक जलाने से लक्ष्मी मां आसानी से प्रसन्न हो जाती हैं।

-शनिवार की रात घर के मुख्य दरवाजे पर दो आटे के दीपक जलाया करें, ये उपाय करने से शनि ग्रह का अशुभ प्रभाव जीवन पर नहीं पड़ता है।

कैसे बनाए आटे का दीपक

आटे का दीपक बनाना बेहद ही सरल है और आसानी से इसे बनाया जा सकता है। इसे बनाने के लिए सबसे पहले आटा गुंथ लें और इसमें हल्दी मिला दें। फिर थोड़े से आटे को लेकर उसे दीपक का आकर दे दें। अब इसके अंदर एक बत्ती बनाकर डाल दें। आप इस दीपक के अंदर घी या सरसों का तेल डाल सकते हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि, कभी भी पुराने आटे से दीपक ना बनाएं। दीपक बनाने के लिए हमेशा ताजे आटे का ही प्रयोग करें।

टीम बेबाक

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

114,247FansLike
138FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles