11.1 C
New Delhi
Sunday, January 16, 2022

चुनावी रैलियों पर रोक लगने के बाद डिजिटल वॉर में तब्दील हुआ UP चुनाव

Uttar Pradesh: यूपी में चुनावी रैलियों पर रोक लगने के बाद छोटी पार्टियां भी डिजिटल वार की तैयारियों में जुट गई हैं। निषाद पार्टी के मुखिया संजय निषाद ने कहा कि न सिर्फ अभी से बल्कि पिछले तीन सालों से वे अपनी पार्टी में डिजिटल योद्धाओं की फौज तैयार कर रहे थे।

संजय निषाद का कहना है कि ये समय की ज़रूरत है। निषाद पार्टी के लखनऊ दफ्तर में एक छोटा सा डिजिटल वार रूम भी तैयार कर लिया गया है, जहां से निषाद पार्टी के वॉलेंटियर्स अपनी प्रचार सामग्री को अलग-अलग मीडिया माध्यमों से लोगों तक पहुँचाने में जुटे हुए हैं।

वहीं, बात ओम प्रकाश राजभर की पार्टी सुभासपा की करें तो लखनऊ के पार्क रोड में सुभासपा ने भी अपनी डिजिटल विंग तैयार कर ली है। सुभासपा का दावा है कि हर जिले में सुभासपा के कई डिजिटल टीम तैयार है। एक तरफ अखिलेश यादव का कहना है कि डिजिटली भाजपा दूसरों से मजबूत है तो वहीं, सपा के सहयोगी ओम प्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर ने कहा कि हम किसी से कम नहीं।

इसके अलावा सपा की एक और सहयोगी दल आरएलडी की बात करें तो लखनऊ में भाजपा दफ्तर के ठीक बगल में आरएलडी का बहुत बड़ा दफ्तर मौजूद है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मसूद अहमद से जानने की कोशिश की गई कि आरएलडी इस डिजिटल चुनावी वार में कैसे मुकाबला करेगी तो आरएलडी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हर गांव में हमारे कार्यकर्ता मौजूद हैं, वे हमारा चुनाव प्रचार करेंगे।

चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही चुनावी रैलियों पर रोक लगने के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव ने कहा कि ये चुनाव डिजिटल होने जा रहा है, लेकिन हमारे पास कोई स्ट्रक्चर नहीं है। बड़ी पार्टियों के पास डिजिटली चुनाव लड़ने का पूरा संसाधन मौजूद है। ऐसे में छोटी पार्टियों के साथ ये पूरी तरह से बेईमानी है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

114,247FansLike
131FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles