Share
MLA अशोक सिंह हत्याकांड मामले में पूर्व सांसद और RJD नेता प्रभुनाथ सिंह दोषी करार, अरेस्ट

MLA अशोक सिंह हत्याकांड मामले में पूर्व सांसद और RJD नेता प्रभुनाथ सिंह दोषी करार, अरेस्ट

झारखंड, हजारीबाग

हजारीबाग कोर्ट ने राजद नेता एवं पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को 22 साल पहले पुराने हत्या के एक मामले में दोषी करार दिया है। प्रभुनाथ सिंह को दोषी ठहराए जाने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है। अब इस मामले में 23 मई को फैसला सुनाया जाएगा।

अशोक सिंह की हत्या 3 जुलाई 1995 को पटना में उनके सरकारी आवास 5 स्टैण्ड रोड में बम मार कर कर दी गई। उस समय वो आरजेडी के मशरख विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे। हत्या का मुख्य आरोपी प्रभुनाथ सिंह को बनाया गया। प्रभुनाथ सिंह को हराकर ही अशोक सिंह मशरख से विधायक बने थे।

READ  रजरप्पा मंदिर में जाकर इस जवान ने क्यों दे दी खुद की 'बलि'?

अशोक सिंह मामले में गिरफ्तार प्रभुनाथ सिंह के छपरा जेल में रहते कानून व्यवस्था बिगड़ रही थी, जिसकी वजह से उनको हजारीबाग जेल शिफ्ट किया गया। उस समय झारखंड, बिहार का हिस्सा था। प्रभुनाथ सिंह के आवेदन पर ही हजारीबाग में इस केस का ट्रायल चला और 22 साल के बाद आज गुरूवार को कोर्ट ने फैसला सुनाया।

बिहार की राजनीति में प्रभुनाथ सिंह की छवि बाहुबली राजनेता के रूप में है। वह जेडीयू के टिकट से महाराजगंज से सांसद रह चुके हैं। प्रभुनाथ सिंह की बिहार की राजनीति में दबंग छवि है, जिसके चलते राजनीतिक दल उनको ज्यादा तवज्जो देते हैं। उन पर कई अधिकारियों को धमकाने समेत अलग-अलग तरह के बहुत सारे विवादों में आते रहे हैं। केस अशोक की पत्नी चांदनी देवी ने दर्ज कराया था। इसमें प्रभु नाथ सिंह के अलावा उनके भाई दीनानाथ सिंह और रितेश सिंह को आरोपी बनाया गया था।

READ  राष्ट्रपति चुनाव से पहले BJP को चुनौती देने के लिए एकजुट हुए विपक्षी दल

टीम बेबाक

SHARE ON :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
(Visited 29 times, 1 visits today)