Share
फिर खाकी हुई दागदार, केस के निपटारे के लिए महिला SI कर रही है वसूली

फिर खाकी हुई दागदार, केस के निपटारे के लिए महिला SI कर रही है वसूली

हरियाणा ब्यूरो: हिसार में पुलिस की खाकी लगातार दागदार होती रही है और खास कर महिला पुलिस कर्मचारी के वसूली का मामले इन दिनों कुछ ज्यादा ही सामने आ रहे हैं। हिसार में महिला थाना की पूर्व थाना प्रभारी सरोज के भ्रष्टाचार के मामले के बाद हिसार के सदर थाना की महिला सब इंस्पेक्टर संतोष देवी के भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है।

केस में फंसाने का दबाव बनाकर कर महिला इंस्पेक्टर ने की वसूली

दुकानदार को केस में फंसाने का दबाव बनाकर कर महिला इंस्पेक्टर पर वसूली का आरोप है। इस मामले में आर्य नगर निवासी दुकानदार को पुलिस अधीक्षक मनीषा चौधरी को शिकायत दी थी और एसआई की बनाई वीडियो दी थी। सदर पुलिस ने आर्य नगर निवासी दुकानदार की शिकायत पर संतोष देवी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

दुकानदार का कहना है पुलिस समझौता करने का दबाव डाल रही है। लेकिन वह समझौता नहीं करना चाहता। दुकानदार ने इस मामले की शिकायत एसटीएससी आयोग दिल्ली को शिकायत की है। उसकी उच्च अधिकारियों व आयोग से मांग है कि आरोपी एसआई को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि तीन महीने माह पहले आर्य नगर क्षेत्र की एक दुकान में रेप का वारदात के मामला सामने आया था। दुकानदार किसी काम से बाहर गया था, जाने से पहले अपने दोस्त अशोक को दुकान बंद कर चाबी घर देकर जाने के लिए कहा था।

आरोप है कि अशोक ने मौके का फायदा उठा कर दुकान में एक महिला के साथ दुष्मर्क किया था। कुछ दिनों बाद पीड़िता महिला ने अशोक के विरुद सदर थाना में शिकायत देकर कार्यवाही की गुहार लगाई थी। पुलिस ने केस दर्ज करके महिला एसआई संतोष देवी को जांच सौपी थी और आरोपी अशोक पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

अब दुकानदार विनोद को केस में फंसाने का भय दिखाकर उससे सात हजार रुपये की मांग की गई थी। आरोप है कि उसने 4 हजार रुपये जांच अधिकारी को दे दिए थे, बाकी रुपये देने के लिए एसआई की तरफ से दबाव बनाया जा रहा था। दुकानदार ने जांच अधिकारी के साथ बातचीत की वीडियो भी बनाया था।

आर्य नगर निवासी दुकानदार विनोद ने बताया कि उसकी दुकान पर सदर थाने से महिला इंस्पेक्टर संषोत देवी आई थीं। एसआई ने उससे कहा कि तुम्हारी दुकान में रेप हुआ है। अधिकारी ने कहा कि तुम्हारी दुकान में रेप की वारदात हुई है। मैंने पुलिस अधिकारी से कहा कि इस मामले में मेरा निपटारा करवा दो। विनोद ने आरोप लगाया कि इस मामले को निपटारा करने के लिए रुपये लेनदेन का सौदा तय हुआ था। जिसमें चार हजार रुपये दे दिए थे और तीन हजार रुपये बकाया देने थे।

विनोद ने आरोप लगया कि वह रुपये देने के लिए सदर थाने में गया और 1200 रुपये दे दिए थे। विनोद ने कहा कि पुलिस अधिकारी से बातचीत के जरिए वीडियो भी शूट किया। उसने कहा कि उस पर काफी दबाव बनाया जा रहा है, उसका घर से निकलना दुभर हो गया है। उसकी मांग है कि भ्रष्टाचार के मामले की आरोपी एसआई को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उसने इस बारे में एक शिकायत एससीएटी आयोग दिल्ली में भी दी है और मांग है कि आरोपी को पकड़ा जाना चाहिए।

हिसार के डीएसपी जितेंद्र कुमार ने बताया कि संषोत देवी जो सदर थाना में कार्यरत हैं। उनका एक वीडियो वायरल हुआ था। इस बारे में शिकायत भी दी गई है। जिसके आधार पर सदर थाने में संषोत के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज भी किया है। उन्होंने बताया कि वह काफी दिनों से गैर हाजिर भी चल रही थीं, इसलिए उन्हें सस्पेंड भी कर दिया गया है।

गुरदास सिंह/टीम बेबाक

Leave a Comment