Share
तान्या सान्याल ने रचा इतिहास, बनीं देश की पहली महिला फायर फाइटर

तान्या सान्याल ने रचा इतिहास, बनीं देश की पहली महिला फायर फाइटर

नई दिल्ली: अब कोई ऐसे क्षेत्र नहीं जहां महिला की भूमिका शून्य हो। हर जगह हर क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ती जा रही है। आधी आबादी की इस तरह से बढ़ना हमारे समाज के लिए एक सुखद और सकारात्मक संदेश है।

पहली महिला फायर फाइटर

आज हम आपको बता रहे हैं एक ऐसे महिला के बारे में जो पहली बार फायर फाइटर बनी है। हम आपको तान्या सान्याल के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने महिला फायर फाइटर बन कर इतिहास रच दिया और तान्या का नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया। क्योंकि आज से 100 साल बाद भी जब महिला फायर फाइटर के बारे में बताया जाएगा तो तान्या सान्याल का नाम ही लिया जाएगा।

तान्या मूलत: पश्चिम बंगाल की हैं। वो कोलकाता की रहने वाली हैं। फिलहाल तान्या का ट्रेनिंग भी कोलकाता में ही हुआ। सबसे पहले आपको हम तान्या के बारे में बता दें। तान्या ने बॉटनी की पढ़ाई की है और बाद में फायर फाइटर बनने की तैयारी शुरू कर दी। उन्होंने मीडिया से बताया कि फायर फाइटर बनना कोई आसान काम नहीं था। यह रास्ता बेहद ही चुनौतीपूर्ण था, लेकिन मेरे परिवारवालों ने हर चुनौती में मेरा साथ दिया। उन्होंने आगे कहा कि आज हमें फायर फाइटर बन कर गर्व महसूस हो रहा है।

READ  लाखों में कमाता है मुकेश अंबानी का ड्राइवर, सैलरी सुन हो जाएंगे बेहोश

क्या काम करेंगी तान्या?
आपको बता दें कि एयरपोर्ट्स पर फायर सर्विस का होना बहुत ही जरूरी है। एयरपोर्ट्स पर विमान के लैंडिंग के वक्त फायर वर्क्सस वहां मौजूद होते हैं। लेकिन सरकारी अथॉरिटी के पास मजह 3,310 फायर फाइटर्स ही मौजूद हैं। लेकिन ये हालत अब और भी बदतर होते जा रहे हैं क्योंकि एयरपोर्टों का विस्तार होता जा रहा है। क्षेत्रिय एयरपोर्ट को चालू किया जा रहा है, ऐसे में फायर वर्क्स की भारी दिक्कत हो रही है।

READ  बेरोजगारों को पैसे कमाने का अचूक तरीका बता रहा है आठवीं पास ये लड़का

ऐसे में एएआई के चेयरमैन ने महिलाओं को इस क्षेत्र में नियुक्त करने का फैसला किया। इस काम को करने के लिए जहां मेंटली तैयार होने की जरूरत होती है। वहीं फिजिकल स्टैंडर्स की भी बहुत जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि इतिहास में पहली बार हो रहा है कि इस क्षेत्र में महिलाएं शामिल होने जा रही हैं। फिलहाल तान्या को एएआई ने पूर्वी क्षेत्रों में नियुक्त किया है। जिसमें कोलकाता, पटना, भुवनेश्वर, रायपुर, गया और रांची शामिल है।

टीम बेबाक

SHARE ON :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
(Visited 14 times, 1 visits today)