Share
बड़ा खुलासा: काले को सफेद करने के लिए बनाई जाती हैं राजनीतिक पार्टियां

बड़ा खुलासा: काले को सफेद करने के लिए बनाई जाती हैं राजनीतिक पार्टियां

कालेधन पर शिकंजा कसने के लिए किए गए नोटबंदी के बाद से मोदी सरकार लगातार सख्त कदम उठाती आ रही हैं। इसी बीच कालेधन को सफेद बनाने पर हो रहे खेल को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ। ये खुलासा चुनाव आयोग ने किया।

चुनाव आयोग के मुताबिक देश में अभी 1900 राजनीतिक पार्टियां है। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने कहा कि इन पार्टियों में 400 दल ऐसे हैं जो अभी तक कोई भी चुनाव नहीं लड़े हैं। जैदी ने कहा कि वाजिब है कि इन पार्टियों का गठन काले धन को सफेद करने के लिए ही किया जा सकता है।

READ  नोटबंदी के खिलाफ भारत बंद, नीतीश ने किया किनारा

फिलहाल मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि ऐसी पार्टियों को लिस्ट से निकालने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इससे राजनीतिक पार्टी के तौर पर आयकर और चंदे में मिलने वाली छूट बंद की जा सकेगी। पार्टियों की लिस्ट में आयोग हर साल कांट-छांट करती है। लेकिन जब चुनाव आयुक्त से पूछा गया कि इनका दोबारा रजिस्ट्रेशन हो सकता है तो जैदी ने कहा कि इसका दोबारा रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया काफी लंबी होती है।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने यह भी कहा कि भविष्य में दोबारा रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया की जाएगी। फिलहाल इस अनियमितता को देखते हुए त्वरित उपाय के तौर पर यह एक्शन लिया जा रहा है। चुनाव आयोग ने राज्य चुनाव आयोगों को ऐसी पार्टियों की लिस्ट भेजने का निर्देश दिया है जिन्होंने कभी चुनाव नहीं लड़े. मुख्य चुनाव आयुक्त जैदी ने यह भी बताया कि इन पार्टियों को मिलने वाले अनुदानों का विवरण भी भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

READ  कूड़े की ढेर से मिल रहा है 500-1000 के नोट

टीम बेबाक

SHARE ON :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
(Visited 56 times, 1 visits today)